Top 51 Barish Shayari In Hindi 2022 | Rain Shayari | 20+ Shayari On Barish

Barish Shayari In Hindi – बारिश का मौसम दिल को बड़ा ही भाता है. इसका असली मजा वो लोग लेते है जिन्हें भीगने से बीमार होने का डर नहीं होता है. Rain Shayari बारिश के मौसम में समोसा खाने में और अदरक वाली चाय पीने में बड़ा मजा आता है. उत्तर प्रदेश और बिहार में बारिश होने पर लोग घरों में लिट्टी और चोखा बनाते है.

Barish Shayari In Hindi

Barish Shayari In Hindi
Barish Shayari In Hindi

कहीं फिसल ना जाओ जरा संभल के रहना,
मौसम बारिश का भी है और मोहब्बत का भी।

मुझे ऐसा ही ज़िन्दगी का एक पल चाहिए,
प्यार से भरी बारिश और संग तू चाहिए।

मोहब्बत तो वो बारिश है,
जिससे छूने की चाहत मैं,
हथेलियां तो गीली हो जाती है,
पर हाथ खाली ही रह जाते है।

तुम्हें बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुम्हें हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुम्हें बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुम्हें सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम।

जब भी होगी पहली बारिश, तुमको सामने पायेंगे,
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम देख तो पायेंगे।

तुम भी लौट आओ ना सावन की तरह,
मेरी सूखी हुई जिंदगी में बारिश की तरह।

उस प्यार को हम सच्चा नहीं कहते है,
जिसे बारिश में अपने महबूब की याद ना आये.

आज मेरी पूरी हुई ख्वाहिश,
दिल खुश करने वाली हुई बारिश।

जब-जब बादल बरसता है,
सनम से मिलने को दिल तरसता हैं.

कहीं फिसल ही न जाऊं तेरी याद में चलते-चलते..
रोक अपनी यादों को मेरे शहर में बारिश का समाँ हैं.

Also Read:

Barish Quotes in Hindi

बारिश के मौसम में
किसान खुश होता है,
अगर उससे उसके खेतों
की सिचाई होती है. भले
ही घर की छत टपकती है.

सड़कों पर जमा पानी देखकर
शहर की बारिश का पता चलता है,
जब गाँव में बारिश होती है
तब बाग़-बगीचों और खेतों में
हरियाली ही हरियाली नजर आती है.

Barish Ki Boondo Me Jhalakti Hai Tashveer Unki Aur,
Hum Unse Milne Ki Chahat Me Bheeg Jaate Hain.

बारिश की बूँदों में झलकती है तस्वीर उनकी और
हम उनसे मिलनें की चाहत में भीग जाते हैं।

Ajab Lutf Ka Manzar Dekhta Rahta Hun Barish Me,
Badan Jalta Hai Aur Main Bheegta Rahta Hun Barish Me.

अजब लुत्फ़ का मंज़र देखता रहता हूँ बारिश में,
बदन जलता है और मैं भीगता रहता हूँ बारिश में।

AbKe Barish Mein To Ye Kaar-E-Ziyaan Hona Hi Tha,
Apni Kachchi Bastiyon Ko Be-Nishaan Hona Hi Tha.

अबके बारिश में तो ये कार-ए-ज़ियाँ होना ही था,
अपनी कच्ची बस्तियों को बे-निशाँ होना ही था।

Rain Shayari

Koi To Barish Aisi Ho Jo Tere Sath Barse Mohsin,
Tanha To Meri Aankhein Hr Roz Barsti Hein…

कोई तो बारिश ऐसी हो जो तेरे साथ बरसे मोसिन,
तन्हा तो मेरी ऑंखें हर रोज़ बरसाती हैं।

In Barishon Se Dosti Achhi Nahi Faraz
Kacha Makan Hain Tera Kuch To Khayal Kar

इन बारिशों से दोस्ती अच्छी नहीं फ़राज़,
कच्चा माकन है तेरा कुछ तो ख्याल कर।

टूट पड़ती थीं घटाएँ जिन की आँखें देख कर
वो भरी बरसात में तरसे हैं पानी के लिए

बरसात का बादल तो दीवाना है क्या जाने
किस राह से बचना है किस छत को भिगोना है

भीगी मिट्टी की महक प्यास बढ़ा देती है
दर्द बरसात की बूँदों में बसा करता है

साथ बारिश में लिए फिरते हो उस को ‘अंजुम’
तुम ने इस शहर में क्या आग लगानी है कोई

धूप सा रंग है और खुद है वो छाँवो जैसा
उसकी पायल में बरसात का मौसम छनके

Hava o ka jor tha barish kahi or thi dil kisi ka toot?
raha tha or kisi or ka ?Jud raha tha

घंटों तक भिगोया बारिश ने मुझे फिर
भी में कोरा का कोरा ही रह गया।।?

Tumhe Barish Pasand Hai Mujhe Barish Me Tum,
Tumhe Hansna Pasand Hai Mujhe Hasti Hui Tum,
Tumhe Bolna Pasand Hai Mujhe Bolti Huyi Tum,
Tumhe Sab Kuch Pasand Hai Aur Mujhe Bas Tum.

बारिश समझनी है तो किसानों के चेहरे पढो..
इन शायरियों ने तो इसे इश्क के दायरे में बांध रखा है !

Shayari On Barish

तुम थे तो पिछली बारिश ज़िन्दगी थी।
इस बार तो सिर्फ पानी बरस रहा है।

जितना देखू, जितना महसूस करू,
जितना सुनू कम सा लगता है।
ये बारिश का मौसम तुम सा लगता है।

मौसम- ऐ -बारिश का गुरुर तो देखो लगता है
जैसे तुमसे मिल के आया हो

हैरत से ताकता Hai सहरा बारिश के नज़राने को,
कितनी दूर से आई Hai ये रेत से हाथ मिलाने को!

तुम्हें बारिश पसंद Hai मुझे बारिश में तुम,
तुम्हें हँसना पसंद Hai मुझे हस्ती हुए तुम;
तुम्हें बोलना पसंद Hai मुझे बोलते हुए तुम,
तुम्हें सब कुछ पसंद Hai और मुझे बस तुम

वो मेरे रु-बा-रु आया भी तो बरसात Ke मौसम में,
मेरे आँसू बह रहे थे और Woh बरसात समझ बैठा!

रहने दो कि अब Tum भी मुझे पढ़ न सकोगे,
बरसात में काग़ज़ Ki तरह भीग गया हूँ मैं!

अब के जो घिरे घटाएँ…. तो काश हम मिले
मिले है कई बार हम मगर फिर भी कम मिले

New Rain Status

बारिश में तेरा हाथ थामे दूर तक चलना है
खुदा तेरा लाख शुक्रिया जो वो ज़हे करम मिले

अब के बारिशों में… साथ अपने भीग जाने दे
जान तुम हो सिर्फ मेरी…ज़माने को बताने दे

अब के बारिश हो….. तुम हो….. और मैं रहूँ
फिर कभी ना अपने दिवाने को होश में आने दे

गीत सदा तेरी चाहत के ज़माने को सुनाता रहूँ
तुम्हारा नाम ग़ज़लों के बहाने मैं गुनगुनाता रहूँ

ये बारिशें कर दे… जब मौसम सुहाना शहर का
मेरी जान… तुझे मैं सीने से अपने लगाता रहूँ

Top 51 Barish Shayari In Hindi 2022, Rain Shayari, 20+ Shayari On Barish, New Rain Status, Barish Sms In Hindi

Add a Comment

Your email address will not be published.